मुस्कान

मुस्कान

खिली खिली सी नज़र आती
सब को ये लुभाती
कभी धीमी कभी चंचल सी
लबो पर ये बिखर जाती
कभी सिर्फ़ तेरी आँखों मे
स्मीत बन के चमके
कभी चाँद से चेहरे पे
मुस्कान बन के दमके

4 टिप्पणियाँ

  1. Abhishek said,

    नवम्बर 8, 2009 at 12:20 अपराह्न

    Your this efforts are heartly thankful
    nice creation…………………………….

  2. Jolly Uncle said,

    जून 8, 2010 at 8:25 पूर्वाह्न

    Bahut khoob………………
    Jolly Uncle
    http://www.jollyuncle.com

  3. vijay said,

    फ़रवरी 12, 2011 at 1:16 अपराह्न

    मुस्कान

    खिली खिली सी नज़र आती
    सब को ये लुभाती
    कभी धीमी कभी चंचल सी
    लबो पर ये बिखर जाती
    कभी सिर्फ़ तेरी आँखों मे
    स्मीत बन के चमके
    कभी चाँद से चेहरे पे
    मुस्कान बन के दमके


एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: