रब्बा दीदार करा दे

रब्बा दीदार करा दे

रब्बा ये मुझे क्या हुआ है
शायद इश्क़ का बुखार चढ़ा है |

रब्बा मैं सूद बुद खो बैठी
अक्सर मैं बेहोश हूँ रहती |

रब्बा क्यूँ मुझे नींद ना आए
किसकी याद है,जो मुझे सताए |

रब्बा क्यूँ मन उलझ गया है
सबने हमे दीवानी कहा है |

रब्बा कौन है वो काफ़िर बता दे
मिलने जिससे दिल भी रज़ा है |

रब्बा जो मर्ज़ मुझे दिया है
उसके दिल को वही सज़ा दे |

रब्बा अब तो दीदार करा दे
दर्द दिया है , तूही वा दे |

top post

1 टिप्पणी

  1. Rewa said,

    फ़रवरी 14, 2008 at 9:09 पूर्वाह्न

    रब्बा ये मुझे क्या हुआ है
    शायद इश्क़ का बुखार चढ़ा है |

    hmmm….रब्बा दीदार करा दे…..per koi ho tab to…🙂


एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: