प्यार और दर्द का गहरा रिश्ता होता है

15385.jpg

प्यार और दर्द का गहरा रिश्ता होता है
दोनो है अलग फिर भी हमे भिगोता है |
दोनो में ही आँखों से निकलते वो आँसू
दोनो में ही दिल सिसक सिसक के रोता है |
तस्सली देनेवाले तो मिल जाते है बहोत
मरहमदवा करनेवाला कोई ना होता है |
चोट तो हमे लगती है मगर इस कदर
गले लगाओ जितना,मंन और चैन खोता है |
उनके चेहरे पर गम,अंदर मुस्कान के साए
दूसरे का गम देख,कोई और खुश होता है |
इतना ना करो जतन,के खुद को बैठो भुलाए
दुनिया के सामने तेरा  फसाना बहुत छोटा है |
पलकों का परदा हटाओ,सितारे गुलशन सजाए
ऐसा कभी ना सोच के तुझसे हर रब रूठा है |

19 टिप्पणियाँ

  1. जनवरी 23, 2008 at 5:30 पूर्वाह्न

    very sweet & true words…..

    bhut kam shabdo mein apney dil ke dard ko bayan kiya hai..

    kush reho hamesha

  2. Annapurna said,

    जनवरी 23, 2008 at 8:29 पूर्वाह्न

    इतना न करो जतन के ख़ुद को बैठो भुलाए

    बहुत ख़ूब !

    ऐसे ही कलम चलती रहे।
    शुभकामनाएं !

  3. mehhekk said,

    जनवरी 23, 2008 at 8:51 पूर्वाह्न

    shukran aap ka.

  4. malhotraklal said,

    जनवरी 24, 2008 at 11:49 पूर्वाह्न

    ऐसा कभी ना सोच कि तुझ से हर रब रूठा है –बेशक बहुत अच्छा लिखती हैं आप –वो खुद आ जायेगा ये सोच के दिल पे ना रख पत्थर। जो रूठा है तो मना ले , जो जाता है तो बुला ले। तेरे दामन पकडने में ही थोडी ढील दिखती है । है वरना रब की क्या हिम्मत जो दामन तुझ से छुडा ले

  5. mehhekk said,

    जनवरी 24, 2008 at 12:51 अपराह्न

    shukran malhotraklalji

    rab to kabhi apne se rutha nahi karate
    chah kar bhi unse rishate tuta nahi karte
    jo bula kar,mana kar bhi vaapas nahi aate
    unke daman hum phir pakda nahi karte.

  6. जनवरी 24, 2008 at 2:42 अपराह्न

    वाकई क्या गजब लिखती है आप…बहुत सुन्दर!!

  7. vikash said,

    जनवरी 24, 2008 at 5:53 अपराह्न

    waah! bahut accha laga padh ke!

  8. mehhekk said,

    जनवरी 24, 2008 at 6:13 अपराह्न

    bahut aabhari hun sunitaji aur vikashji,shukran.

  9. rahul said,

    जनवरी 25, 2008 at 4:13 पूर्वाह्न

    it is very fantastic and fresh poem. u have expressed your view deeply and emotionally. it is nice efforts. thanx.
    friend please see my hindi lyrics
    ( http://www.newlyricist.blogspot.com) please give your valuable comment

    thanx.

  10. mehhekk said,

    जनवरी 25, 2008 at 2:45 अपराह्न

    thanks a lot.

  11. vikram singh said,

    जनवरी 25, 2008 at 4:16 अपराह्न

    सुन्दर रचना बधाई
    विक्रम

  12. Rewa said,

    जनवरी 25, 2008 at 5:21 अपराह्न

    पलकों का परदा हटाओ,सितारे गुलशन सजाए
    ऐसा कभी ना सोच के तुझसे हर रब रूठा है |

    This is very truth…..I simply love it!

  13. ashutosh said,

    जून 19, 2008 at 1:50 पूर्वाह्न

    in this poem u have written the true story of the world.fantastic

  14. Shail said,

    सितम्बर 13, 2008 at 6:45 अपराह्न

    aapne khoob likha… shayad likha nahi apna haal-e-dil kaha…….

    koi hansta hai koi rota hai…
    dil jise chahe wahi khota hai…
    saath jo umra bhar na de paaye.
    pyar aksar ussi se hota hai…….

  15. singhanita said,

    सितम्बर 18, 2010 at 2:35 अपराह्न

    सुंदर रचना ….सुंदर भाव

  16. सितम्बर 22, 2010 at 5:17 पूर्वाह्न

    हसरत है, तुझे सामने बैठे, कभी देखूँ
    मैं तुझ से मुख़ातिब हूँ, तेरा हाल भी पूछूँ

    दिल में है मुलाक़ात की ख़्वाहिश की दबी आग
    मेहन्दी लगे हाथों को, छुपा कर कहाँ रखूं

    जिस नाम से तूने मुझे, बचपन से पुकारा
    इक उम्र गुज़रने पे भी, वो नाम न भूलूँ

    तू अश्क़ ही बन के, मेरी आँखों में समा जा
    मैं आईना देखूँ तो, तेरा अक़्स भी देखूँ

    पूछूँ कभी गुंचों से, सितारों से, हवा से
    तुझ से ही मगर आ के तेरा नाम न पूछूँ

    ऐ मेरी तमन्ना के सितारे, तू कहाँ है
    तू आए तो ये ज़िस्म, शब-ए-ग़म को न सौंपूँ…

    द्वारा——> “अज्ञात” …….. शुभ दिन ….”हँसी”….

  17. सितम्बर 22, 2010 at 5:18 पूर्वाह्न

    हँसी”….

  18. सितम्बर 24, 2010 at 11:32 पूर्वाह्न

    mujhe pena ka shok nahi peeta ho gam bhulane kkkkkke liya

  19. smsmsti said,

    अप्रैल 6, 2011 at 12:36 अपराह्न

    दोनो में ही आँखों से निकलते वो आँसू

    BAHUT HI SUNDAR RACHANA


एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: