लकीरें

लकीरें

माना ये हाथों की लकीरों ने किस्मत के राज़ छुपाए
शातिर है वो,ज़िंदगी के पूरे मोहरे तुम्हे नही दिखाए
चाहत है बाज़ी हो मुट्ठी में,झुझना होगा कुछ इस कदर
तुम कहो उस राह लकीरों के रुख़ खुद ब खुद बदल जाए. |

11 टिप्पणियाँ

  1. फ़रवरी 23, 2008 at 7:09 पूर्वाह्न

    बढिया मुक्तक है।बधाई।

  2. फ़रवरी 23, 2008 at 7:15 पूर्वाह्न

    वाह…………..

  3. Rewa said,

    फ़रवरी 23, 2008 at 8:32 पूर्वाह्न

    माना ये हाथों की लकीरों ने किस्मत के राज़ छुपाए
    शातिर है वो,ज़िंदगी के पूरे मोहरे तुम्हे नही दिखाए
    चाहत है बाज़ी हो मुट्ठी में, जूझना होगा कुछ इस कदर
    तुम कहो उस राह लकीरों के रुख़ खुद ब खुद बदल जाए. |

    वाह वाह वाह… बहुत ख़ूब….!
    हम तो फ़िदा हो गये तुम्हारे अल्फाज़ों पर🙂

  4. mehhekk said,

    फ़रवरी 23, 2008 at 11:48 पूर्वाह्न

    shukran paramjit ji,anuradhaji,rews.

  5. Tarun Sharma said,

    फ़रवरी 23, 2008 at 12:21 अपराह्न

    har subah jab jab mein haatho ko dekhta hoon
    apni lakeero mein tujhe dhundhta hoon
    shayad teri koi lakeer ubhar aayee ho

    good thinking ..keep it up.

    -tarun

  6. ajaykumarjha said,

    फ़रवरी 24, 2008 at 11:33 पूर्वाह्न

    mehek jee,
    shubh sneh. chhotee chhotee lakeeron se poore zindagee ka falsafaa bataa diyaa apne . achha lagaa.

  7. mehhekk said,

    फ़रवरी 24, 2008 at 2:58 अपराह्न

    tarun ji ajay ji bahut shukran

  8. rashmi prabha said,

    फ़रवरी 24, 2008 at 5:03 अपराह्न

    बहुत सुंदर……
    हाथ की लकीरें,शातिर ज़िंदगी की चाल !

  9. फ़रवरी 25, 2008 at 2:52 अपराह्न

    शातिर हॆ वो……अच्छी लगी, खासकर ये
    विक्रम

  10. Rohit Jain said,

    फ़रवरी 27, 2008 at 5:54 पूर्वाह्न

    बेहद खूबसूरत…

  11. मार्च 18, 2008 at 6:47 पूर्वाह्न

    Lakire,
    bahut aachhi lagi. bahootkhub, Vah!!!! kya bat hai !!!!


एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: