होली मुबारक

Image and video hosting by TinyPic

होली 

     //1//
मन में घुली मीठी गुझिया सी बोली हो 
प्यार के रंग लगाओ दुश्मन या सहेली हो |
गुबार वो बरसों से पलते रहे है दिल में
नफ़रत पिघलाती मिलन सार ये होली हो | 
गुस्ताखियों के अरमानो की लगती है कतारें 
हर धड़कन की तमन्ना उसका कोई हमजोली हो | 
जज़्बातों की ल़हेरें ऐसी  उठाता है समंदर
दादी शरमाये इस कदर जैसे दुल्हन नवेली हो | 
मुबारक बात दिल से अब कह भी दो “महक” 
आप सब के लिए होली यादगार अलबेली हो |

    //2//

छाई खुशियों की बौछार
के आई है होरी
मीठी गुझिया,मीठा मोरा सैय्या
दोनो पे टिकी होये
इस दिन नज़र हमारी

बड़ी स्वादिष्ट सी गुझिया
हाय,खाने को जियरा ललचाय
लागे एक ही बारी में
स्वाहा करूँ सारी
छुपाय के सबसे खाना पड़त है
देखे कोई ई न कह दे
बहुरिया घर की,सब से चटोरी.

देख सलोना भोला सैय्या
गोरियों का दिल मचल जाय
नटखट सखियाँ धोखे से
सजनवा को भंग पीलाय
जानत मस्ती,पर मन घबराए
कोई मोरे सैययांजी की
कर ले ना चोरी.

भूल,ख़ता माफ़,मन की स्लेट कोरी
रंगों से सजी हो सब जन की होरी.

-महक

http://merekavimitra.blogspot.com/2008/03/33-2-1.html

12 टिप्पणियाँ

  1. paramjitbali said,

    मार्च 21, 2008 at 4:14 अपराह्न

    बहुत सुन्दर रचनाएं प्रस्तुत की है।आपने बहुत अच्छा लिखा है।

    ेख सलोना भोला सैय्या
    गोरियों का दिल मचल जाय
    नटखट सखियाँ धोखे से
    सजनवा को भंग पीलाय
    जानत मस्ती,पर मन घबराए
    कोई मोरे सैययांजी की
    कर ले ना चोरी.

  2. Rewa Smriti said,

    मार्च 21, 2008 at 4:40 अपराह्न

    छुपाय के सबसे खाना पड़त है
    देखे कोई ई न कह दे
    बहुरिया घर की,सब से चटोरी.

    ise padhkar hasi aa rahi hai…..mast likha hai aapne!

    देख सलोना भोला सैय्या
    गोरियों का दिल मचल जाय
    नटखट सखियाँ धोखे से
    सजनवा को भंग पीलाय
    जानत मस्ती,पर मन घबराए
    कोई मोरे सैययांजी की
    कर ले ना चोरी.

    This one is simply very beautiful! And all I can say that poem is very gud!

  3. mehhekk said,

    मार्च 21, 2008 at 5:17 अपराह्न

    paramjit ji,rews thanks u vry much,with happy holi wishes.

  4. abrar ahmad said,

    मार्च 21, 2008 at 5:27 अपराह्न

    बहुत खूब। आपको होली की बधाई।

  5. mehhekk said,

    मार्च 21, 2008 at 5:33 अपराह्न

    abrar ji shukran holi mubarak aapko bhi

  6. Annapurna said,

    मार्च 22, 2008 at 6:17 पूर्वाह्न

    महक जी, गुझिया सी मीठी होली आपको भी मुबारक !

  7. मार्च 22, 2008 at 7:33 पूर्वाह्न

    होली आपको भी मुबारक !

  8. मार्च 22, 2008 at 8:57 पूर्वाह्न

    holi ki raam raam mehek jee
    holi mubaarak ho

  9. mehhekk said,

    मार्च 22, 2008 at 2:39 अपराह्न

    annapurnaji,deepak ji,hem ji,shukrana,holi ki sab ko badhai

  10. Ila said,

    मार्च 23, 2008 at 2:04 अपराह्न

    chatori bahu- —-:) mazaa aagayaa ji, saath hi saath gujhiya bhi mouth watering thi. Kaisi rahee apki hori,
    Saiyyan ne jaroor ki hogi barjori.:)

  11. mehhekk said,

    मार्च 25, 2008 at 5:56 पूर्वाह्न

    :):):):)ila ji shukrana

  12. Tanu Shree said,

    मार्च 26, 2008 at 5:33 अपराह्न

    भूल,ख़ता माफ़,मन की स्लेट कोरी
    रंगों से सजी हो सब जन की होरी.

    mehek u r awesome…..
    u wrtings r always wonderful…keep on writing mehek …
    apni pyari si mehek yuhi har taraf bikherti rahiye….. Good Luck!!


एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: