मयूर पंख मैं लाई हूँ

Image and video hosting by TinyPic

 

कैसे सुना तुम्हे हालदिल
मैं ज़रा सी घबराई हूँ
तुम जो खफा हो अचानक
मैं ज़रा सी कतराई हूँ |
जज़्बात मेरे मचल रहे है
कैसे बयाँ करूँ मैं इनको
तुम्हे जो मैं भेज रही हूँ
कैसे सज़ा उस खत को |
कुछ अपने लहू से लिख दूं
या फिर अश्को के मोती रख दूं
मन इतना उलझ गया है
या फिर कोरी पाती भेज दूं |

सूरज की किरानो से लिख दूं
या चाँद की रौशनी छिड़क दूं
मन को कोई खबर नही
या तारों की चुन्नर जोड़ दूं |

अपने प्यार की नीव है गहरी
जैसे कोहरे में धूप सुनहरी
इश्क़ की बदरी को बरसाने
अब मयूर पंख मैं लाई हूँ |

10 टिप्पणियाँ

  1. सितम्बर 26, 2008 at 2:58 अपराह्न

    hi Mahak
    कैसे सुनाउ तुम्हे हाल-ए-दिल
    मैं ज़रा सी घबराई हूँ
    तुम जो खफा हो अचानक
    मैं ज़रा सी कतराई हूँ |
    hmesha ki taraha se khoobsurat

  2. सितम्बर 26, 2008 at 4:18 अपराह्न

    सूरज की किरानो से लिख दूं
    या चाँद की रौशनी छिड़क दूं
    मन को कोई खबर नही
    या तारों की चुन्नर जोड़ दूं |
    bahut badhiya khoobasoorat rachana .

  3. सितम्बर 26, 2008 at 6:27 अपराह्न

    बहुत ही सुन्दर भाव लिये हे आप की यह कविता… कुछ डरी डरी सी कुछ घबराई सुकुचाई सी…
    धन्यवाद

  4. venus kesari said,

    सितम्बर 26, 2008 at 6:51 अपराह्न

    एक अच्छी कविता पढ़वाने के लिए धन्यवाद
    वीनस केसरी

  5. limit said,

    सितम्बर 27, 2008 at 3:46 पूर्वाह्न

    Hi, its beautiful to read’
    Regards

  6. nisha said,

    सितम्बर 27, 2008 at 9:18 पूर्वाह्न

    इतनी सुंदर भावनाओं युक्त कविता लिखने के लिए बधाई हो

  7. rashmi prabha said,

    सितम्बर 27, 2008 at 9:45 पूर्वाह्न

    मयूर पंख लाने जैसा प्यार
    जो ना समझ पाए-उसने जहाँ को गंवा दिया
    प्यार से ओत-प्रोत रचना…….

  8. Rewa Smriti said,

    सितम्बर 28, 2008 at 8:45 पूर्वाह्न

    अपने प्यार की नीव है गहरी
    जैसे कोहरे में धूप सुनहरी
    इश्क़ की बदरी को बरसाने
    अब मयूर पंख मैं लाई हूँ |

    Very beautiful!

  9. जून 1, 2014 at 2:44 पूर्वाह्न

    आप की सोच बेहतरीन है!…इसे आपने सुन्दर
    शब्दों में ढाला है!…


एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: