prabhuji

मन मेरा नीत चपल चंचल
ईत उत हर पल भटकन
तेरे चरण,शरण आई प्रभुजी
रखियो मन तेरे जाप मा अटकन
बिनती इतनी लेकर आज
आई हूँ प्रभुजी तेरे द्वार
रहोगे ना मेरे संग सदा
आओगे ना मेरी सुन के पुकार

Advertisements