तेरे कदमो के निशान

रात रात भर करटे बदलते नज़र आये
तेरी यादों के साये बेवक़्त हमे सलते है |

दुनिया की सच्चाई से रिश्ता तोड़ लाए
तुझसे मिलनके ख्वाब में हम पलते है |

तुझ तक पहुँचना अब मुश्किल ना रहा
तेरे कदमो के निशान पर हम चलते है |

top post

Advertisements

गुलमोहर

gulmohar2.gif

 सी शीश है तुझमें ,खिची चली आती हूँ
साथ मेरे मन की तरंगे, तुमसे बाटने  लाती हूँ |

तुमसे मेरा रिश्ता है , मेरे बचपन सा सुहाना
तेरे रंगरूप से मोहित मैं,सुनती हूँ तेरा तराना |

फ़िज़ाओं का रंग बदले,मौसम भी बदलता रेहता
जब तूमपे बहा सजती,मेरा रोम रोम है खिलता |

ग्रीष्म ऋतु में आते हो,सावन की ख़ुशी दे जाते हो
जहाँ भी जाती हूँ मैं,मेरे मन में समाए होते हो |

ना जानू तुम कौन हो मेरे,प्रियतम या सखा हो
बेनाम ही रेहने दो ये रिश्ता,नाम में क्या रखा है |

इतना समझती हूँ मैं,बरसों का अपना अफ़साना
 जब भी तेरी छाया में,हरदम प्यार के फूल बरसाना |

ज़िंदगी की  मुश्किल राहों में , तेरे फूल चुन चुन लाती हूँ
तेरे संग होने के एहसास से ही,कितना सुकून पाती हूँ |

लालरे फूलपन्नो की चुनरी से,तेरा रूप ग़ज़ब का निखरता है
मेरे दिल के आँगन में आज भीवो गुलमो बिखरता  है |

top post

एक अजनबी

जान कर भी नही जानती 
समझकर भी नही समझती 

दूर से ही होती है अपनी मुलाकात 
नज़रो ही नज़रों में होती है बात 

तेरी हँसी ,मेरे लबो पर आए 
तेरे आँसुओं से मेरे नयन भर जाए 

महसूस करती हूँ सांसो को तेरी
तेरे ख़याल से ही,बढ़ती धड़कन मेरी 

ख्वाबो में रहते हो,छू नही पाउ कभी 
मेरे दिलबर हो तुम, फिर भी अजनबी .

top post