बूँद में छीपा अस्तित्व

बूँद में छिपा अस्तित्व ढुंढ़ो तो मिल जाए
बूँद से मिलती आशा  सब की प्रेरणा बन पाए |

बूँद विश्वास की गहरे रिश्ते की नीव रचाए
बूँद प्यार की मिठास घोले नफ़रत के शूल मिटाए |

बूँद सा छोटा शब्द  भावनाओ को राह दिखाए
बूँद ही  खुशी और गम में आँखों को सजाए |

बूँद थिरकती पत्तियों पर जश्नसाज़ सुनाए
बूँद बूँद मिलकर बनता विशाल सागर सा समुदाय |

Advertisements

मनीप्लांट

 

मनीप्लांट

ख्वाहिशो की
पारदर्शक बोतल को
ख्वाबों के पानी से भर दिया
उम्मीद का एक
हरा पत्ता जड़ दिया

आकांक्षाओ का मनीप्लांट
देखो कैसे ल़हेरा रहा
उँचा उँचा चढ़ेगा
जिधर राह मिल जाए

सब देखेंगे उसको
बढ़ते हुए
वाह वाह होगी

जड़ों में अटकी हुई
रिश्तों की
सौंधी मिटटी को
पानी में घोल दिया
खुद से दूर……..